जाटों को मिला इनेलो का साथ

jat-reservation-haryana

हरियाणा में चल रहे जाट आंदोलन को इंडियन नेशनल लोकदल (इनेलो) का भी साथ मिल गया है। विधानसभा में विपक्ष के नेता अभय सिंह चौटाला ने जींद के खटकड़ गांव में चल रहे धरने में पहुंचकर खुले समर्थन की घोषणा की। उन्होंने भाजपा की प्रदेश सरकार पर गंभीर आरोप लगाये और कहा कि सरकार की नीयत साफ नहीं है।

जाट आरक्षण संघर्ष समिति द्वारा हरियाणा के कई इलाकों में आरक्षण व अन्य मांगों को लेकर शांतिपूर्ण आंदोलन जारी है।

abhay-chautala-INLD

अभय सिंह चौटाला ने कहा कि जाटों को आरक्षण देने के लिए हरियाणा सरकार की नीयत में खोट शुरु से ही है। सरकार ने जाटों को पहले 19 महीने तक उलझाये रखा। फरवरी में आंदोलन होने पर सरकार ने गुजरात मॉडल की तर्ज पर प्रदेश के जाटों को आपस में लड़ाया।

अभय सिंह चौटाला ने कहा कि सांसद राजकुमार सैनी, मंत्री नायब सैनी आदि एक ओर थे, और सरकार के कुछ मंत्री दूसरी ओर. इससे प्रदेश का वातावरण बिगड़ा. उन्होंने गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि यह भाजपा और आरएसएस की साजिश थी

इनेलो नेता चौटाला ने कहा कि 46 दिन तक राज्यपाल ने जाट आरक्षण विधेयक पर हस्ताक्षर नहीं किये। हस्ताक्षर होने के बाद भी सरकार ने यह मामला केन्द्र के पास नहीं भेजा। साफ हो जाता है कि सरकार की नीयत साफ नहीं।

चौटाला ने देवीलाल का जिक्र भी किया जिन्होंने जाट सहित 16 जातियों को आरक्षण देने का काम किया था। हालांकि जाट समेत छह जातियों का आरक्षण बाद में रद्द हो गया था लेकिन 10 जातियों को आरक्षण मिला था। तब से जाट आरक्षण के लिए संघर्ष कर रहे हैं। चौटाला ने गृहमंत्री राजनाथ सिंह पर आरोप लगाते हुए कहा कि उन्होंने जाट आंदोलन में मारे गये लोगों के परिजनों को आर्थिक सहायता और सरकारी नौकरी का आश्वासन दिया था, वह आजतक अधूरा है।

अभय चौटाला ने उन खाप नेताओं पर भी निशाना साधा जो जाट आंदोलन का विरोध कर रहे हैं।

-पॉलिटिक्स ब्यूरो.

POLITICS के ताज़ा अपडेट के लिए हमारा फेसबुक  पेज लाइक करें या ट्विटर  पर फोलो करें. आप हमें गूगल प्लस  पर ज्वाइन करें ...
जाटों को मिला इनेलो का साथ जाटों को मिला इनेलो का साथ Reviewed by Gajraula Times on June 16, 2016 Rating: 5
Powered by Blogger.